इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

प्रचार खिडकी

रविवार, 26 फ़रवरी 2012

सर्द हवा में जियरा कांपे ..इ फ़ागुन में जोगी कैसे गाएगा जोगीरा रे




दौडती हुई ट्रेन की खिडकी से , मोबाइल द्वारा खींची गई एक फ़ोटो





छुट्टी का दिन , सुहाना मौसम , सो आन पडी इक दुविधा ,
कंप्यूटर तोडें खट खटाखट , या धूप में पढें कहानी कविता ..





अलसाई , अल्हड और चमकीली सी उग आई है भोर ,
फ़ागुन मास होवे मदमस्त ,किंतु इहां तो चले है चिल्ड हवा घनघोर 





जेटली चचा बोले हैं , यूपीए सरकार भूल चुकी है,शासन करने की कला
अबे तो साइनिंग इंडिया से लेकर भारत निरमान तक , घंटा हुआ है भला ..



एनसीटीसी पर पीएम ,मुख्यमंत्रियों की बैठक बुलाएंगे ,
उस बैठकी में का कहना है , मेड्म्म से पूछ के बताएंगे ....



कम नहीं होंगे चुनाव आयोग के अधिकार : अईसा भरोसा दी है सरकार ,
ओहो अच्छा , बहुत अच्छे , अबे आखिर इत्ता काहे छलक रहा है आयोग पे प्यार ..



अबे जौन स्टेट के लिए ई लोग आयोग का मैय्यत निकाला हुआ है ,
ऊ इस्टेट का हेल्थ में ही , अरबों खरबों का घोटाला हुआ है ..



NDTV बता रहा है , काहे टीम इंडिया ,महापिरलय की झेल रहा है मार ,
अबे अभी वक्त है हॉकी का , बंद करो , ई साला रूटीन बकावास है यार  





चैनल का सबसे बडा खबर , दोस्त बने धोनी आ सहवाग ,
बने काहे , अबे जब अच्छे हैं , तो थोडे और लगाओ दाग .....





मुलायम अत्याचारी , माया भ्रष्टाचारी : बोल दिए बाबा अमर ,
अब जाके इनको पता चला , जब बीत गई रे उमर ,...





सर्वोच्च न्यायालय :पुलिस की कार्वाई लोकतंत्र पर प्रहार ,
ई ऑर्डर के बाद , ऊ ऑर्डर का जिम्मा नहीं कोई लेने को तैयार ..





कांग्रेस नहीं तो यूपी में राष्ट्रपति शासन , कोयला मंतरी जी दे दिए बयान ,
सुना है महापिरलय के विशेषज्ञ इसे राग कोयलाबेरी का साईड इफ़्फ़ेक्ट रहे हैं मान ..



आरक्षण की मांग को लेकर 14 जगह ट्रैक जाम करेंगे जाट ,
अबे का पटरी से आरक्षण मिलेगा , काहे कर रहे हो पसिंजर की खडी खाट ..



अभी ठंडी नहीं हुई है कॉमनवेल्थ घोटाले की आंच ,
दिल्ली उपराज्यपाल के खिलाफ़ शुरू हुई सीबीआई की जांच



बीस मिनट में दु सौ खबरें , इंडिया टीभी दिखा रहा है ,
इस हिसाब से साठ मिनट में टोटल केतना का रेशियो आ रहा है ?
  



ई समाचार चैनलवा सब एकसकिलुसिव के चक्कर में का का करता है बेचारा,
आज के फ़ैसला पर रिपोर्टिंग करने ,रामलीला मैदान पहुंची आजतक पत्रकारा



एक ठो नेताजी दिन में बघार बघार के अपना चतुराई का राग का रहे थे ,
पडा जो सोटा पाछे से , कहे हम तो संविधान का प्रावधान बता रहे थे ...



NCTC पर ममता दीदी , घनघोर से, पुरज़ोर की हैं विरोध ,
Nहीं ,Cचलेगा Tरिनमूल Congग्रेस ,फ़ुल फ़ार्म बता दिया लोग  





किरकेट में रोजिन्ना हार की खबर काहे बार बार दिखाते हो ,
हॉकी में आया फ़ार्म में भारत , अबे एक बार नहीं बताते हो ...



चुनाव आयोग नोटिस ले ले के आ भेज भेज के इत्ता बढा दिया दबाव ,
कानून मंतरी बोले ,होगा आचार संहिता उल्लंघन कानून में ही बदलाव ॥



शेषन बाबा ने दी थी आग्नेय दृष्टि , अब उ हो गया है भैंगा ,
रोजिन्ना देता आयोग नोटिस नया , नेताजी रोजे दिखाते ठेंगा ..



 हम जीतेंगें , सरकार बनेंगे , सबके हैं अपने अपने दावे ,
कौन लाएगा काला धन वापस , कौन जनलोकपाल , हाय कोई नहीं बतावे





सहवाग के पीठ में दर्द कल नय खेलेंगे,बता रहा है टीभी वाला है भकलोल रे ,
अबे असली खबर ई है ,भारत दागा सिंगापुर के खिलाफ़ टोटल पंद्रह गोल रे 





बिहार में शिक्षा व्यवस्था , बिल्कुल हो गई है ठीक ,
बस मा स्साब बनने की परीक्षा में पर्चा हो गया लीक ...



 मौसम महीना आया बौराने का , कल से सुरताल में फ़कीरा गाएगा ,
रे फ़ागुन आ गया अंगना मोरे ,कल से जोगी फ़िर , जोगीरा गाएगा ...


14 टिप्‍पणियां:

  1. साहित्य और राजनीति का घालमेल,
    आपकी पोटली में कई रंग का मेल !

    उत्तर देंहटाएं
  2. हर क्षेत्र पर निगाह है :):) बहुत बढ़िया ॥

    उत्तर देंहटाएं
  3. आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा आज के चर्चा मंच पर की गई है। चर्चा में शामिल होकर इसमें शामिल पोस्ट पर नजर डालें और इस मंच को समृद्ध बनाएं.... आपकी एक टिप्पणी मंच में शामिल पोस्ट्स को आकर्षण प्रदान करेगी......

    उत्तर देंहटाएं
  4. मोबाइल का चित्र क्या खूब वह भी दौड़ती ट्रेन से .. कौन सा मोबाइल है भाई.. लिखा जबरदस्त .. फर्राटेदार जैसे ट्रेन .. :)

    उत्तर देंहटाएं
  5. अलसाई , अल्हड और चमकीली सी उग आई है भोर ,
    फ़ागुन मास होवे मदमस्त ,किंतु इहां तो चले है चिल्ड हवा घनघोर ... होली तक गर्मी होगी जोर

    उत्तर देंहटाएं
  6. क्या मूड बनाया है सर जी, मजा आ गया.

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत खूब! सटीक प्रस्तुति...

    उत्तर देंहटाएं
  8. रश्मि प्रभा... ने आपकी पोस्ट " सर्द हवा में जियरा कांपे ..इ फ़ागुन में जोगी कैसे ग... " पर एक टिप्पणी छोड़ी है:

    अलसाई , अल्हड और चमकीली सी उग आई है भोर ,
    फ़ागुन मास होवे मदमस्त ,किंतु इहां तो चले है चिल्ड हवा घनघोर ... होली तक गर्मी होगी जोर

    उत्तर देंहटाएं

टोकरी में जो भी होता है...उसे उडेलता रहता हूँ..मगर उसे यहाँ उडेलने के बाद उम्मीद रहती है कि....आपकी अनमोल टिप्पणियों से उसे भर ही लूँगा...मेरी उम्मीद ठीक है न.....

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Google+ Followers